Coding क्या है इसे फ्री में कैसे सीखें? कोडिंग इन हिंदी जाने

क्या आप भी उन लोगों में से हैं, जो कोडिंग के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। आपको सही और एक जगह जानकारी नहीं मिल रही है। या आप उन लोगो में शामिल है जो फ्री में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना चाहते हैं। तो आज का लेख "Coding Kya Hai" आपको ज्यादा से ज्यादा coding बारे में जानकारी देने की कोशिश करेगा।

coding-kya-hai

आज आपके द्वारा कई उपकरण ( जैसे कि computer, phone, smart tv) इस्तेमाल किए जाते हैं। क्या आपने कभी यह सोचा है कि इन उपकरणों को कैसे जानकारी होती है कि कौन से कार्य, कब और कैसे करना है?

बता दूं कि यह सब उन्हें coding के माध्यम से पहले बता दिया जाता है कि उन्हें कब और कैसे रिएक्ट करना है। इसलिए आज हम आपको अपने आज के लेख में निम्नलिखित टॉपिक पर विस्तार से चर्चा करेंगे:–

  • Coding का क्या अर्थ है बारीकी से समझेगे।
  • Coding कैसे काम करती है?
  • Coding का इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?
  • पॉपुलर Coding Language कौन सी है?
  • Coding सीखने से क्या फायदा है?
  • फ्री में कोडिंग कैसे सीखें ?

Coding क्या है? (Coding In Hindi)

Coding प्रोग्रामिंग का एक पार्ट है। Coding कंप्यूटर को यह बताता है कि उसे क्या करना है। यानी कंप्यूटर से संवाद करने के जरिए को कोडिंग कहा जाता है। कंप्यूटर की खुद कि भाषा को मशीन कोड भी कहा जाता है। कोडिंग के माध्यम से हम जो भी कंप्यूटर को निर्देश देते हैं। वह उसी निर्देश को प्रोसेस करके हमें रिज़ल्ट देता है।

Coding के द्वारा आप कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, गेम, वेबसाइट, ऐप बनाने, डेटा प्रोसेस करने से लेकर अन्य चीजों को आसानी से बना सकते हैं इसलिए coding सीखना आज के समय बहुत जरूरी है।

आज के समय हम ऐप या वेबसाइट के बिना अपने जीवन के होने के बारे में सोच नहीं सकते हैं। यह इसलिए क्योंकि आज टेक्नोलॉजी की क्षेत्र में तेजी से डेवलपमेंट हो रहा है। अगर देखा जाए तो लगभग सभी क्षेत्रों में कोडिंग का उपयोग हो रहा है। फिर चाहे वह मेडिकल क्षेत्र, मनोरंजन क्षेत्र, कृषि, या मनोरंजन कि दुनिया हो।

जैसे लोग कार्य करते है, ठीक वैसे कंप्यूटर भी कार्य करेगे। जो आप उन्हें कोडिंग के माध्यम से बताते हैं। यह एक आसान तरीका लग रहा होगा। लेकिन इससे कुछ समस्या भी पैदा हो सकती है। यदि आप कंप्यूटर को कोडिंग के माध्यम से 1 से काउंटिंग करने के लिए कहेंगे। तो जब तक आप उसे खुद रुकने के लिए निर्देश नहीं देगे तब तक यह ऐसे काउंटिंग करता जायगा। 

यह तो सिर्फ मैंने आपको एक उदहारण के तौर पर समझाया है। एक अच्छा प्रोग्रामर को यह जानकारी होती है कि उसे कंप्यूटर से कब और कितना कार्य करवाना है।

Coding कैसे काम करती है?

कंप्यूटर के माध्यम से हम सॉफ्टवेयर, वेबसाइट, फोटो, वीडियो या किसी भी चीज को देखते हैं। तो उसे हम आसानी से पढ़ व देख लेते हैं। यानी कि जो कंप्यूटर हमे प्रोसेसिंग के बाद output दिखता है। वह ह्यूमन लैंग्वेज के फार्म में होती है। 

जैसा कि हम जानते हैं कि कंप्यूटर एक आर्टिफिशियल मशीन है तो हमारी बोली जाने वाली भाषा को पढ़ पाना कंप्यूटर के लिए मुश्किल है। इसलिए कंप्यूटर को क्या करना है, यह बताने के लिए हम बाइनरी कोड (Binary code) का इस्तेमाल करते हैं। यह एक ऐसी लैंग्वेज है जिसे सिर्फ़ कंप्यूटर समझ सकता है, जो सिर्फ शुन्य (Zero) से लेकर एक (One) के गणित आकड़ो निर्भर है।

अगर आप ऐसा सोच रहे हैं कि सिर्फ इन दो गणित आकड़ो पर कंप्यूटर क्यों कार्य करता है। तो फिर आइए यह भी जान लेते है। इसका जबाव है कि कंप्यूटर इंसानों के द्वारा बनाई गई इलेक्ट्रॉनिक मशीन है। जो कि हजारों Transistor से मिलकर बना है। Transistor बाइनरी स्विच और कंप्यूटर सर्किटरी का मौलिक निर्माण खंड होता है।

कंप्यूटर को instructions देने के लिए एक स्पेशल सेट कि आवश्यकता होती है। सीधे शब्द में कहे तो कंप्यूटर से संवाद करने के लिए code कि जरूरत होती है। यह code कंप्यूटर प्रोग्रामर्स के द्वारा लिखे जाते हैं। इन सभी कोड के सेट को सोर्स कोड (हाई-लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज) के नाम से जानते हैं। 

जिसे compiler के माध्यम से पहले असेंबली लैंग्वेज (लो लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज) और इसके बाद असेंबली लैंग्वेज को binary code में बदल दिया जाता है। कंप्यूटर सॉफ्टवेयर प्रोग्रामों के संकलन और निष्पादन करने के कुछ सेकंड के अंदर आपको आउटपुट दिखा देता है।

Coding का यूज क्या है?

Coding का इस्तेमाल आज कई चीजों में होता है आइए तो फिर जानते और समझते कि आज कोडिंग कहा कहा उपयोग की जाती है।

1. कंप्यूटर प्रोग्रामिंग या कोडिंग का इस्तेमाल हम वेबसाइटों, ग्राफिक डिजाइन, ऐप्स और कई अन्य चीजों को कंप्यूटर के माध्यम से करते है। 

2. विजुअल इफेक्ट्स (VFX), और मोबाइल या पीसी गेम को बनाने के लिए कॉडिंग का इस्तेमाल किया जाता है।

3.  फिल्मों और वीडियो में स्पेशल इफेक्ट को जोड़ने के लिए कोडिंग का इस्तेमाल करते हैं।

4. कंप्यूटर प्रोग्राम को कॉमनिकेशन मीडिया ( जैसे कि - Voice Communication, SMS, Chat, Video Calling ) को डिजाइन करने के लिए करते हैं।

5. आज सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के माध्यम से बनाया गया हैं। यानी कि कोडिंग का इस्तेमाल करके MS Office, calculator, browsers ( जैसे कि - क्रोम, इंटरनेट एक्सप्लोरर आदि) बनाए गए हैं।

पॉपुलर Coding लैंग्वेज कौन सी है?

आप coding सीखना चाहते हैं और आपको कोडिंग लैंग्वेजेस ( जैसे C, C++, Python, Php आदि) के नाम की भी जानकारी है। लेकिन आप यह नहीं डिसाइड कर पा रहे हैं कि कौन सी कोडिंग लैंग्वेज कौनसे टेक्नोलॉजी (जैसे कि apps, games, website) में यूज कि जाती है। इसलिए आज मै आपको इसकी जानकारी देता हूं। ताकी आप आसानी से उसी कोडिंग लैंग्वेज को सीखे जिसकी आपको जरूरत हो, साथ ही वह बहुत पॉपुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी हो। क्योंकि आज लगभग 100 प्रोग्रामिंग लैंग्वेज उपलब्ध है इसलिए कोडिंग सीखने से पहले यह जाना आपके लिए अत्यन्त आवश्यक है।

1. Python

Python को सबसे पहले 1991 को जारी किया गया था। जिसे Guido van Rossum  ने बनाया था। यह object-oriented पर आधारित स्क्रिप्टिंग भाषा है। Python का यूज वेबसाइट और सॉफ्टवेयर को डेवलप करने के लिए, डेटा एनालिसिस डेटा विज़ुअलाइज़ेशन, और टास्क ऑटोमेशन के लिए किया जाता हैं। Web development और desktop के लिए python को सीख सकते हैं।

2. Javascript

Javascript HTML और CSS कि तरह एक प्रसिद्ध प्रोग्रामिंग भाषा है। जिसने HTML और CSS कि तरह इंटरनेट की दुनिया को बनाने में मदद की थी। इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को 1995 में Netscape के द्वारा विकसित की गई थी। आज यह एक उच्च-स्तरीय बहु-प्रतिमान प्रोग्रामिंग भाषा बन चुकी है। आज javascript वेब फ्रंटएंड प्रोग्रामिंग भाषा की तरह कार्य करती है। आज javascript दुनिया में टॉप programming language के रूप में कार्य करती है। जैसे कि आपको वेबपेज में पॉप-अप, अलर्ट, इवेंट और उनके जैसे कई अन्य चीजें दिखाई देती है। वह सभी javascript कि मदद से बनाए जाते हैं। Web Designing के लिए javascript को सीख सकते हैं।

3. C/ C++

C को 1970 के दशक में डेनिस रिची के द्वारा बनाया गया था। यह एक अमेरिकन कंप्यूटर वैज्ञानिक थे। वहीं C++, C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ही extension है। इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल अलग अलग एप्लिकेशन और प्लेटफॉर्म बनाने के लिए होता है, जैसे सिस्टम एप्लिकेशन, रीयल-टाइम सिस्टम, गेम, क्लाउड, आदि। आप इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को desktop और embedded system के लिए सीख सकते हैं।

4. C#

C# माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा बनाई गई है। यह एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जो .NET Framework के आधार पर चलती है। इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आप डेस्कटॉप ऐप्स, मोबाइल ऐप्स, गेम, वेब ऐप्स, इत्यादि को डेवलप करने के लिए सीख सकते हैं

5. CSS

CSS का full form Cascading Style Sheets होता है। इसका इस्तेमाल web page कि प्रेजेंटेशन  (जैसे - color, layout, font) के लिए किया जाता है। साथ ही वेब कि स्टाइल शीट को बनाने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

6. PHP

PHP को 1994 में Rasmus Lerdorf के द्वारा विकसित की गई है। PHP, General purpose scripting भाषा है जिसे वेब डेवलपमेंट के लिए बनाया गया है। PHP language इंटरैक्टिव और डायनामिक वेब पेज को बनाने के लिए उपयोग किया जाता है।

7. Java

यह एक गलत धारणा है, कि javascript और java दोनों एक है या लगभग दोनों में एक ही समानता है। बता दू कि java को 1995 में Sun Microsystems के जेम्स गोस्लिंग द्वारा बनाया गया है। Java का इस्तेमाल Windows, OS, Mac आदि विभिन्न प्लेटफार्मों होता है। Java को आप बैंकिंग, ई-कॉमर्स, इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग,  वितरित कंप्यूटिंग के लिए ऐप बनाने के लिए सीख सकते हैं।

8. HTML

HTML का full form Hyper Text Markup Language होता है। यह वेब ब्राउज़र में दिखाई देने वाले दस्तावेज़ों के लिए एक markup भाषा है। आपको अगर CSS का इस्तेमाल नहीं करना है तो उसकी जगह पर HTML प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह स्क्रिप्टिंग भाषा (जैसे कि Javascript) में लिखे गए प्रोग्राम या कोड को आराम से embedd कर सकता है।

Coding सीखने के फायदे 

coding-in-hindi

आज के समय coding को सीखने के निम्नलिखित फायदे होते हैं-

1. कोडिंग के द्वारा आप सॉफ्टवेयर, वेबसाइट्स और ऐप को बना सकते हैं। 

2. बच्चो को कोडिंग सीखने से उनकी logical thinking, communication skill डेवलप होती है। उनका फ़ोकस और कन्सन्ट्रेट अच्छा होता है। साथ ही बच्चे कंप्यूटर कि भाषा को आसानी से समझ लेते हैं।

3. अगर आपको कोडिंग आती है तो सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री में कैरियर बनाने का विकल्प होता है। यानी कि आप चाहे तो इसमें अपना कैरियर बना सकते हैं। आपको इस इंडस्ट्री में आसानी से जॉब मिल जाती है।

4. आज ऐसी कई सरकारी नौकरियां है। जिसमे कोडिंग कि मांग की जाती है। अगर आपको कोडिंग आती है तो इस जॉब को पाना आपके लिए आसान हो जाएगा।

5. बच्चो को कोडिंग सीखने से उनकी मैथमेटिकल स्किल में डेवलपमेंट होता है। लॉजिकल और कैलकुलेशन स्किल बच्चो के पास आने से वह मैथ को आसानी से समझ सकते हैं।

6. कोडिंग का आज डिजिटल दुनिया में काफी महत्व हो गया है। अगर आपको कोडिंग आती है तो बच्चो को कोडिंग सीखा कर पैसे भी कमा सकते हैं।

7. कोडिंग एक ऐसे नॉलेज है जो हर किसी को नहीं आती है। लेकिन आज सबसे ज्यादा डिमांड कोडिंग कि है।

फ्री में Coding कैसे सीखें ?

आज फ्री में बेसिक coding को सीखने के लिए कई वेबसाइट व ऐप उपलब्ध है। आप उन वेबसाइट कि मदद से घर बैठे online coding को सीखे सकते है। इसलिए अब हम आपको कुछ ऐसे ही फ्री में कोडिंग सीखने वाले वेबसाइट और ऐप के बारे में विस्तार से जानकारी दूंगा।

free-coding-kaise-sikhe

फ्री में बेसिक कोडिंग को आप निम्नलिखित जगह से सीख सकते हैं।

Website के माध्यम से Coding सीखें –

Codecademy

आज Codecademy से लगभग 2 करोड़ लोगो ने कोडिंग सीखी है। यह वेबसाइट कोडिंग सीखने के लिए सबसे लोकप्रिय वेबसाइटों में से एक है। आप चाहे इस वेबसाइट से कोडिंग को सीख सकते हैं। Codecademy से कोडिंग सीखने के लिए सबसे पहले आपको साइनअप करना होगा। 

Sign-up करने के लिए गूगल या फेसबुक दो विकल्प दिए गए हैं। मेरी राय यही है कि आप गूगल से साइनअप करे तो अच्छा होगा। इस वेबसाइट से HTML, Javascript CSS, PHP जैसी लोकप्रिय प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आसानी से सीख सकते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि अगर आपको किसी तरह की कोडिंग सीखने में दिक्कत आती है। तो उसके लिए इस वेबसाइट में हिंट की भी सुविधा दी गई है।

Codeavengers

Codeavengers भी कोडिंग सीखने के लिए एक अच्छी वेबसाइट है। इस ऐप से ना सिर्फ कोडिंग इसके साथ साथ ऐप्स, वेबसाइट और गेम बनाने की भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इस वेबसाइट में कोर्स को कुछ इस तरह डिजाइन किया गया है जिससे बिगिनर्स को भी किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी। 

सबसे पहले आपको Codeavengers वेबसाइट में बेसिक कोडिंग की जानकारी दी जाएगी। इसके बाद एडवांस लेवल कि कोडिंग सिखाई जाती है। इस वेबसाइट से आप python, html, css, ruby, जैसे पॉपुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीख सकते हैं।

Codeschool

Codeschool से आप फ्री में कोडिंग सीख सकते हैं। इस वेबसाइट में मौजूद कोडिंग कोर्से अध‍िकांश फ्री में उपलब्ध है। इस वेबसाइट कि मदद से आप कोडिंग को डिटेल में नॉलेज ले सकते हैं। यह वेबसाइट भी बाकी सभी वेबसाइट कि तरह  IOS, HTML, CSS, Javascript, Database, आदि के बारे में ज्यादा से ज्यादा सीख सकते हैं। यहां आपको कोडिंग कोर्स के साथ साथ इंस्ट्रक्शंस और वीडियो भी दिए जाते हैं।

Apps के माध्यम से Coding सीखे –

Enki App

Enki App के माध्यम से आप कई प्रकार के कोडिंग कोर्स को सीख सकते हैं। इस ऐप के द्वारा Python, Javascript, C++ आदि प्रकार के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आसानी से सीख सकते हैं। Enki App का इंटरफेस काफी सुलभ और आकर्षक है। यहां आपको अधिकांश प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को फ्री में सिख सकते हैं। अगर आप इस ऐप का पेड कोर्स खरीदना चाहते हैं तो यह सिर्फ ₹500 से ₹600 प्रति माह में मिल जाता है।

Khan Academy

Khan Academy कोडिंग सीखने में लोकप्रिय ऐप में शामिल है। यह एकेडमी flexible education program के लिए सबसे लोकप्रिय है। आज इस ऐप को playstore में करोड़ों बार डाउनलोड किया गया है। साथ ही इस ऐप की रेटिंग भी अच्छी है। आज Khan Academy प्लेटफॉर्म पर अलग अलग कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को फ्री में उपलब्ध है। आप इस प्लेटफार्म से HTML, Javascript, SQL, CSS आदि जैसी पॉपुलर कंप्यूटर code को सीख सकते हैं।

यह भी जाने-

आज क्या सीखा

जैसे कि आज के लेख में आपने Coding क्या होती है? के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की है। यहां मैंने आपको पूरी कोशिश की है कि आपको कोडिंग से जुड़ी अधिक से अधिक जानकारी दी जाए। इस लेख में कोडिंग के मतलब के साथ साथ कुछ ऐसे पॉपुलर तरीको के बारे में भी जानकारी दी है जिससे आप फ्री में घर बैठे online coding सीख सके।

दोस्तो उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा कोडिंग पर लिखा पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा। इस पोस्ट को अपने दोस्तो को शेयर जरूर करें ताकि वह भी कोडिंग के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके। अगर आपको किसी भी तरह प्रश्न आ रहा है तो कॉमेंट बॉक्स में जरूर पूछे साथ ही यह भी बताएं आपको पोस्ट पढ़ने में कैसा लगा है।

Post a Comment

Previous Post Next Post