Signal Private Messenger App क्या है डाटा कैसे secure है?

व्हाट्सएप की नई पॉलिसी के तहत Signal Private Messenger App में डाउनलोडिंग की बौछार आ गई है अचानक इस ऐप के इतने डाउनलोडिंग होने के कारण server डाउन हो गया है इसकी जानकारी खुद सिग्नल ऐप ने ट्वीट करके कहीं है। अधिक यूजर्स के आने के कारण वेरिफिकेशन कोड यूजर्स के पास बहुत ही लेट पहुंच रहा है आपको बता दें कि टॉप फ्री ऐप में व्हाट्सएप को पीछे करते हुए इस ऐप ने खुद को एप्पल की प्ले स्टोर में टॉप पर कायम कर लिया है।

Signal Private Messenger App

दोस्तों आज सिग्नल ऐप इतना पॉपुलर हो गया है कि आप भी यह सोचने लगे कि Signal Private Messenger App क्या है आखिर का Signal app व्हाट्सएप से ज्यादा secure कैसे हैं इस ऐप के क्या advantages और सबसे बड़ी बात यह है कि सिग्नल ऐप को कैसे चलाएं तो फिर चलिए जानते हैं।

Signal Private Messenger App क्या है?

Signal Private Messenger App या Signal App व्हाट्सएप का अल्टरनेटिव ऐप है। यह एक मल्टीमीडिया मैसेजिंग एप जिसको किसी भी तरह के डिवाइस में डाउनलोड किया जा सकता है सन 2014 में सिग्नल ऐप को ऑफिशियली लांच किया गया था यह एक non-profit company है।

Signal App के रचयिता मॉक्सी मर्लिंस्पिके (Moxie Marlinspike) है यह एक अमेरिकन क्रिप्टोग्राफर के साथ-साथ इस कंपनी के सीईओ भी है इस ऐप के मालिकाना हक सिग्नल फाउंडेशन (Signal Foundation) और सिग्नल मैसेंजर एलएलसी (Signal Messenger LLC) के पास है यूजर्स को हाई सिक्योरिटी देने के कारण इसकी tag line 'Say Hello To Privacy' है।

Signal Private Messenger App के फीचर्स क्या है?

Signal App आज व्हाट्सएप का alternative कि तरह देखा जा रहा है इस ऐप की मदद से आप चैट, वीडियो कॉल, फोटो शेयर, पीडीएफ शेयर, इत्यादि कर सकते हैं। यहां तक इस ऐप में ग्रुप बनाने का भी विकल्प मौजूद है लेकिन यह हम सब जानते हैं कि अगर किसी ऐप के फायदे हैं तो उसमें कुछ कमियां भी होती हैं मतलब यह है कि सिग्नल ऐप में ग्रुप बनाने के लिए आप सिर्फ 150 लोगों को ही जोड़ सकते हैं।

इस ऐप का डाटा गूगल ड्राइव या किसी भी क्लाउड पर स्टोर नहीं होने के कारण अगर कभी भी चैट का बैकअप लेना चाहे तो नहीं ले पाएंगे। अगर बात करें तो व्हाट्सएप में हम कभी भी किसी को उसके बिना परमिशन के ग्रुप में ऐड कर लेते हैं लेकिन Signal Private Messenger App में group में ऐड करने के लिए पहले परमिशन लेनी होगी इसके लिए जिसको आप ऐड कर रहे हैं उसके पास नोटिफिकेशन जाएगा अगर उसने परमिशन दी तो ऐड कर सकते हैं।

इसमें व्हाट्सएप की तरह delete for everyone  का भी फीचर है सबसे खास फीचर इसमें data link to you का विकल्प दिया जाता है अगर इसको आप चैटिंग के समय इनेबल कर लेते हैं तो कोई भी उस चैटिंग का स्क्रीनशॉट नहीं ले सकेगा। इसमें एक chat automatically delete होने का भी विकल्प मौजूद है। हालांकि व्हाट्सएप में ऑटोमैटिकली डिलीट होने का विकल्प अभी रिसेंटली ही से लांच किया गया था।

Signal App Secure कैसे हैं?

दोस्तों इस की सिक्योरिटी की तारीफ खुद व्हाट्सएप के को-फाउंडर ब्रायन एक्टन ने भी की है हालांकि 2017 में ब्रायन एक्टन ने व्हाट्सएप को छोड़ दिया था इनके जैसे और भी बड़े-बड़े लोगों ने सिग्नल ऐप के सिक्योरिटी की तारीफ की हुई है।

अब आप भी सोच रहे होंगे कि ऐसा क्या है सिग्नल एप कि सर्विस में जो लोग अपने डेटा की सिक्योरिटी के लिए इस ऐप को व्हाट्सएप से भी बेहतर मान रहे हैं चलिए जानते हैं।

सिग्नल एप में मैसेज, कॉल के साथ-साथ मेटा डाटा भी एंड टू एंड इंक्रिप्टेड होता है लेकिन व्हाट्सएप में सिर्फ मैसेज और कॉल ही इंक्रिप्टेड होता है प्ले स्टोर में दी जानकारी के अनुसार इस ऐप का डाटा कहीं भी स्टोर नहीं होता है। व्हाट्सएप में आपको अपनी 16 तरह की जानकारी को permission देना पड़ता है लेकिन सिग्नल ऐप में से आपको अपना अकाउंट बनाते समय मोबाइल नंबर को कंपनी के साथ शेयर करना पड़ता है।

Signal App में अकाउंट कैसे बनाएं?

दोस्तों Signal app को डाउनलोड करने के लिए नीचे बताए गए स्टेप्स को सही से फॉलो करें:-

1) सबसे पहले आपको अपने फोन में प्ले स्टोर के ऐप में जाना है।

2) इसके बाद सिग्नल ऐप को सर्च करना है।

3) अब सिग्नल ऐप को अपने फोन में इंस्टॉल कर लें, इसके बाद इस ऐप को अपने फोन में ओपन करें।

4) अब आपसे अकाउंट बनाने के लिए फोन नंबर मांगा जाएगा अपना फोन नंबर डालें।

5) अब आपके फोन नंबर पर एक ओटीपी आएगा उसे डालकर आगे बढ़े।

6) 4 digit का कम से कम पिन कोड पूछा जाएगा यह एक तरह का पासवर्ड है इसके लिए क्रिएट न्यू पिन के विकल्प पर क्लिक करे। सिक्योरिटी के लिए पिन कोड डालें और इसके बाद एक बार पिन को दोबारा कंफर्म करें।

7) अब आपसे आपकी प्रोफाइल के बारे में जैसे कि नाम, लास्ट नाम, प्रोफाइल फोटो पूछी गई है इसको फिल करने के बाद next के विकल्प का चयन करें। अगर आप DP नहीं लगाना चाहते हैं तो कोई बात नहीं।

8) आपका अकाउंट सिग्नल ऐप में क्रिएट हो गया।

सिग्नल ऐप को कैसे यूज़ करें?

दोस्तों अगर अब आपको लग रहा है कि व्हाट्सएप में जैसे अकाउंट क्रिएट किया जाता है वैसे ही स्टेप सिग्नल प्राइवेट मैसेंजर में भी है आपको एक बार फिर से बता दूं कि इसलिए सिगनल ऐप आज लोगों के लिए व्हाट्सएप का अल्टरनेटिव के तौर पर सबसे आगे आ गया है और अगर बात चलाने की आती तो जैसे कि आप व्हाट्सएप में चलाते हैं वैसे ही बिल्कुल सिग्नल ऐप में भी फीचर्स है बस कुछ security आपके डाटा का व्हाट्सएप से ज्यादा मिल जाती हैं। 

चैटिंग करना, पीडीएफ शेयर करना, फोटो सेंड करना, वीडियो कॉलिंग करना, इत्यादि सभी फीचर्स व्हाट्सएप कि आपको इस ऐप में मिल जाएंगे और साथ ही कुछ नए फीचर्स भी इस ऐप में देखने को मिलेंगे जो अभी तक व्हाट्सएप में नहीं है।

आपने क्या सीखा

दोस्तों अब आप लोग Signal Private Messenger App के बारे में जैसे किसी की सिग्नल एप क्या है सिगनल एप कैसे secure है सिग्नल ऐप में अकाउंट कैसे क्रिएट किया जाता है हमारी पोस्ट पढ़ने के बाद जान गए होंगे। आशा करता हूं कि यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी अगर आपको इस ऐप के बारे में किसी भी तरह की आशंका है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं साथ ही अगर आपको लगता है कि सिग्नल एप क्या है पोस्ट के सुधार करने की जरूरत है तो कमेंट बॉक्स में इसके बारे में भी बताएं साथ ही ऐसे ही टेक्नोलॉजी, एप्स इत्यादि के बारे में जानने के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट करते रहे।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां