HP क्या है और किस देश की कंपनी है?

HP company belongs to which country


क्या आप HP का फुल फॉर्म जानते हैं HP किस देश की कंपनी है HP कंपनी की शुरुआत कैसे हुई अगर नहीं है तो आज हम आपको इस आर्टिकल में HP के बारे में डिटेल में बताएंगे।

Hewlett-Packard Company कि शुरुआत

William R. Hewlett और David Packard  के द्वारा हेवलेट-पैकार्ड कंपनी कि स्थापना 1 जनवरी, 1939 को कि गई थी। यह दोनों स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के दो ग्रेजुएट इलेक्ट्रिकल-इंजीनियरिंग है। यह कंपनी अमेरिकन सॉफ्टवेयर और कंप्यूटर सेवाओं कि निर्माता है। 

सन् 2015 को यह कंपनी दो कंपनियों HP Inc. और हेवलेट पैकर्ड एंटरप्राइज में विभाजित हो गई। इन दोनों कंपनियों के  मुख्यालय पालो अल्टो, कैलिफोर्निया में थे। कंपनी ने sophisticated instrumentation के निर्माता के रूप में अपनी एक अच्छी reputation को स्थापित की है। इस कंपनी के पहले ग्राहक के रूप में Walt Disney Productions आयी, जिसने सन् 1940 में कंपनी से आठ ऑडियो ऑसिलेटर खरीदे थे।

द्वितीय विश्व युद्ध के समय में कंपनी ने सैन्य अनुप्रयोगों के लिए products को बनाया था और Naval Research Laboratory के साथ मिलकर कंपनी ने  artillery shell  fuses और काउंटर-रडार तकनीक बनाया था।

Computer Business कि शुरुआत

Hewlett-Packard ने अपना पहला कंप्यूटर, HP 2116A, 1966 में बनाए। इस computer को कंपनी का बनाने का मकसद सिर्फ कंपनी के लार्ज प्रोडक्ट लाइन  Test और measurement को मैनेज करना था। इसके बाद कंपनी ने टाइम शेयरिंग कंप्यूटर सिस्टम को बनाया और 1969 तक इसकी मार्केटिंग की थी, और HP 35 हैंड-हेल्ड कैलकुलेटर कि manufacturing को जारी रखा। 

सन् 1972 में कंपनी ने सामान्य-उद्देश्य के लिए HP 3000 एक मिनीकंप्यूटर को लॉन्च किया। वहीं सन 1980 में कंपनी ने अपना पहेला डेस्कटॉप कंप्यूटर HP-80 को लांच किया। 1984 में कंपनी ने HP LaserJet को लांच किया यह एक प्रिंटर है जिसकी सबसे जायदा sale होने से हेवलेट-पैकर्ड का सबसे सफल उत्पादक बनाया। 1986 में कंपनी ने अपने स्पेक्ट्रम कंप्यूटर सिस्टम का नया सिस्टम को लांच किया जिसको $ 250 मिलियन की लागत से विकसित किया गया। RISC (Reduced Instruction Set Computing)के आधारिक इस प्रोजेक्ट को बनाया गया । 

अब 1997 में Hewlett-Packard उन 30 कंपनियों में अपनी जगह बनाई, जिनके शेयर की कीमत न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज के Dow Jones Industrial Average बनाती है।

हेवलेट-पैकर्ड ने विश्व में अपना बिजनेस शुरू किए

सन 2000 में, हेवलेट-पैकर्ड ने अपनी रिसर्च लैबोरेट्रीज को खोलना शुरू किया जिसमें सन 2002 में भारत के बैंगलोर शहर में, सन 2005 में चीन के बीजिंग शहर और एस टी. पीटर्सबर्ग, रूस (2007) में। ऐसे ही हेवलेट-पैकर्ड ने अपने विश्वव्यापी अभियानों का विस्तार किया। सन 2002 में HP ने  एक major American PC  manufacturer को अपने अंडर में कर लिया।

हाल ही में कंपनी ने एक महिला CEO को नियुक्त किया गया। जिनका नाम Carly Fiorina है। यह कंपनी कि पहेली ऐसी महिला थी जिसने कंपनी को नेतृत्व किया। जिसका कंपनी के कुछ board of directors और कुछ शेयर होल्डर्स ने कड़ा विरोध किया था। इसमें कंपनी के को-फाउंडर का बेटा Walter Hewlett भी शामिल था। 

अब 2010 में कंपनी ने Palm, Inc.को अपने अंडर में किया जो की एक अमेरिकन पर्सनल डिजिटल असिस्टेंट और स्मार्टफोन कि निर्माता है। अगस्त 2011 में Hewlett-Packard ने टेबलेट कंप्यूटर, टचपैड और स्मार्टफोन को बंद करने की घोषणा की थी। कंपनी अपना पूरा ध्यान सॉफ्टवेयर सेवाओं पर केंद्रित करना चाहती थी और इस दौरान ब्रिटिश व्यापार सॉफ्टवेयर कंपनी Autonomy Corporation को $11.1 billion में अपने अंडर में किया। 

सन 2014 में कंपनी ने अपने आप को दो भागों में विभाजित करने की योजना बनाई और सन 2015 में कंपनी के दो भाग हो गए, एक HP Inc. जो की कंप्यूटर और प्रिंटर को बनाती थी और वही दूसरी हेवलेट-पैकर्ड एंटरप्राइज जो कि बिजनेस के लिए प्रोडक्ट एंड सर्विसेज प्रोवाइड करने लगी थी।

HP Company के प्रोडक्ट्स

दोस्तों नीचे निम्नलिखित कुछ प्रोडक्ट्स बताए गए जिस पर कंपनी अपना बिजनेस कर रही है:-

  • HP Software products HP Converged Cloud products.
  • Printers, Digital Cameras, Tablet computers, Business desktops and Mobile phones.
  • Workstations
  • ProCurve
  • Scanners,Pocket Computer aur Enterprise storage
  • Desktop calculators and computers
  • StorageWorks” Storage element managers
  • External hard disk drives
  • Thin clients
  • Telepresence और video-conferencing
  • Personal desktops
  • Servers
  • Business notebooks
  • Storage area management
  • Personal notebooks

निष्कर्ष

दोस्तो उम्मीद करता हूं कि आपको मेरा यह आर्टिकल HP Company के बारे में पसंद आया होगा। अगर आपको ऐसे ही और भी कंपनियों के बारे में जानना है तो हमारे साथ जुड़े रहे और यह आर्टिकल आपको कैसे लगा मुझे कमेंट बॉक्स में जरूर बताइएगा।


Post a Comment

Previous Post Next Post