KYC क्या होता है? KYC Full Form In Hindi

केवाईसी क्या है कैसे भरे?

kyc-kya-hai

क्या आप जानते हैं कि केवाईसी(KYC) क्या है? केवाईसी(KYC) क्यों भरवाया जाता है? फिर चाहे बैंक खाता खुलवाना हो या बीमा लेना हो हर जगह केवाईसी(KYC) भरवाई जाती है। आखिरकार केवाईसी होता क्या है और क्यों भरवाए जाती हैं? दोस्तों आज के आर्टिकल में केवाईसी के बारे में डिटेल में बताऊंगा।

KYC क्या है? KYC Full Form In Hindi

KYC का full form 'Know Your Customer' होता है। अगर आसान भाषा में कहें तो केवाईसी का मतलब अपने ग्राहक के बारे में जानिए।

आज के समय में अगर कोई वित्तीय संस्था अपने ग्राहक को वित्तीय सेवा प्रदान करती है। तो ग्राहक के पहचान जानने के लिए केवाईसी फिल करवाती है। अगर एक शब्द में कहें तो ग्राहक के बारे में जानने का KYC कहा जाता है।

केवाईसी अब हर फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन के लिए महत्वपूर्ण है। जहां पर फाइनेंस से लेकर कोई भी संस्था अपने ग्राहक की मदद कर रही है तो वह केवाईसी (Know Your Customer) जरूर फील करने को कहती है। जैसे कि बैंक में अकाउंट खुलवाना हो, बीमा लेना हो,  फिक्स डिपोजिट बनवाना हो या म्यूचुअल फंड खरीदना हो आदि।

केवाईसी भरवाने की प्रक्रिया में यह साबित होता है कि किसी भी बैंक या कोई भी फाइनेंशियल इंस्टिट्यूशन के द्वारा दी जाने वाली वित्तीय सेवा का दुरुपयोग नहीं हो रहा है।

अगर आपको अभी भी केवाईसी के बारे में समझ में नहीं आया है तो चलिए एक छोटा सा उदाहरण बताता हूं।

आप कभी भी अगर सिम लेने गए होंगे तो आप सिम लेने से पहले अपनी पहचान को बताते हैं और इसके लिए आधार कार्ड आप से वेरीफाई करने को कहा जाता है। इसका मतलब यह हुआ कि आपसे आपके पहचान,एड्रेस सब कुछ वेरीफाई करने को कहा जा रहा है इसी प्रोसेस को केवाईसी कहा जाता है।

दोस्तों उम्मीद करता हूं कि अब आपको केवाईसी के बारे में अच्छे से समझ में आ गया होगा अब चलिए आपको बताते हैं कि केवाईसी के लिए जरूरी दस्तावेज क्या होते हैं?

KYC के लिए जरूरी दस्तावेज 

KYC (Know Your Customer) में आपके नाम एड्रेस और फोटो पासपोर्ट साइज मांगी जाती है। अगर English भाषा में कहें तो आईडेंटिटी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ और फोटो (जो अभी रीसेंट में आपने क्लिक करवाई हो) को मांगा जाता है।  

आईडेंटिटी प्रूफ और एड्रेस ग्रुप के लिए आप से आधार कार्ड,पी पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड,  ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट आदि जैसे डॉक्यूमेंट मांगे जाते हैं इन सभी दस्तावेज को KYC दस्तावेज भी कहा जाता है।

KYC के प्रकार - Types of KYC in Hindi

अगर KYC के प्रकार की बात करें तो वह किसी भी तरह का हो सकता है। लेकिन इन सबका एक ही मकसद होता है कि अपने ग्राहक के बारे में जानिए यानी की केवाईसी के लिए आपको digitally दस्तावेज के द्वारा भी जानकारी देना पड़ता है। और यहां कुछ जगह पर आपको फिजिकली दस्तावेज के द्वारा जानकारी देना होता है। वैसे देखा जाए तो केवाईसी के दो प्रकार के होते हैं

1.  ई-केवाईसी - E-KYC

ई-केवाईसी का प्रयोग तब किया जाता है जब कभी भी कोई वित्तीय संस्था आपके बारे में इलेक्ट्रनिक तरीके से जानना चाहती है यानी ई-केवाईसी का फुल फॉर्म Electronic Know Your Customer होता है।

यहां पर वित्तीय संस्थाएं अपने ग्राहक से कोई भी फिजिकली दस्तावेज नहीं मांगती है। इस तरीके में आपको सिर्फ अपना बायोमेट्रिक डिवाइस पर अंगूठा रखना होता है और आपका पूरा डाटा मिल जाता है यह एक आधार based ईकेवाईसी होता है।

2.  सी-केवाईसी - C-KYC

सी-केवाईसी का मतलब Central Know Your Customer है। वैसे तो सभी बैंक, म्यूच्यूअल फंड खरीदना हो या बीमा बनवाना हो अपने तरीके से केवाईसी मांगती है। फिर चाहे वह डिजिटल तरीके से भी हो सकती है या फिजिकली भी हो सकती है लेकिन जहां पर केंद्रीय स्तर पर केवाईसी की जरूरत पड़ती है तो उसे सेंट्रल केवाईसी कहते हैं।

केवाईसी की जरूरत क्यों पड़ती है?

दोस्तों केवाईसी क्या है? केवाईसी कितने प्रकार के होते हैं? आपको समझ में आ गया होगा। लेकिन मन में एक सवाल जरूर होगा कि केवाईसी( Know Your Customer) की जरूरत क्यों पड़ती है?

बता दें कि कोई भी वित्तीय संस्था आपको वित्तीय सेवा प्रदान करने से पहले यह जानने की कोशिश करती कि आप कौन हैं? और साथ ही धोखाधड़ी वाले जोखिम को कम करने के लिए केवाईसी जरूर फिल करवाती हैं। फिर चाहे वह इलेक्ट्रॉनिक फिल करवाया जाए या फिजिकली फिल करवाया जाए।

यह भी जाने-

KYC कैसे भरें?

KYC भरने के लिए आपके पास नीचे दिए गए दस्तावेज होना जरूरी होता है।

1. आधार कार्ड,
2. पासपोर्ट,
3. वोटर आईडेंटिटी कार्ड,
4. ड्राइविंग लाइसेंस,
5. पैन कार्ड

ऊपर दिए गए सभी दस्तावेज में से किसी एक का होना compulsory है। ऐसे कुछ और भी दस्तावेज होते हैं जिससे केवाईसी भरा जा सकता है लेकिन अगर केवाईसी मांगने वाली संस्था ने आपको ऑप्शन दिया होगा। लेकिन आपको जो मैंने दस्तावेज बताए है वह हर जगह पूछे जाते है।

KYC भरने के लिए आपको कहीं भी जाने की जरूरत नहीं पड़ती है। आज इस फॉर्म को फिल कर रहे हैं उसी में आपसे कुछ दस्तावेजों को वेरीफाई करने के लिए कहा जाता है जैसे कि मैंने ऊपर आपको नाम बता दिए। इसका मतलब यह हुआ कि आप KYC भर रहे हैं।

निष्कर्स - 

उम्मीद करता हूं की KYC क्या है केवाईसी कैसे भरे? आपको समझ में आ गया होगा। अगर आप लोग पेटीएम से पैसा कमाना चाहते हैं तो हमारी पोस्ट पेटीएम से पैसे कैसे कमाए? अवश्य पढ़ें।

आपको वैसे तो इस पोस्ट में KYC के बारे में ज्यादातर सब कुछ बता दिया गया। अगर फिर भी आपको कुछ गलत लग रहा हो तो कमेंट में अवश्य बताएं है। अगर किसी जानकारी में कुछ अधूरा हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। पूरी कोशिश करूंगा आपके द्वारा बताए गए जानकारी को ठीक किया जाए। अगर पोस्ट अच्छा लगे तो शेयर करना बिल्कुल ना भूलें।

Post a Comment

Previous Post Next Post